Home Business खाकी कैंबेल बत्तख पालकर आप भी कमा सकते हैं लाखों रुपए महीना

खाकी कैंबेल बत्तख पालकर आप भी कमा सकते हैं लाखों रुपए महीना

0
Duck Farming

अधिक जानकारी के लिए हमारी आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

इस समय हमारे देश में जो सबसे बड़ी समस्या नजर आती है वह है बेरोजगारी की। इस समय से बहुत से लोग  हैं। जो कि अपनी नौकरियां छोड़ कर के वापस अपने गांव अपने घर लौट आए।

इस समय उन्हें काम की सबसे ज्यादा जरूरत हैं। लोगों को समझ नहीं आ रहा कि हम क्या करें आज की इस वीडियो में हम लोग बात करेंगे कि कैसे अपने गांव में अपने घर पर रहते हुए अपने खेत में अपना खुद का रोजगार शुरु कर सकते हैं।

आज हम लोग कोई बहुत बड़ी बात नहीं आज हम लोग बत्तख पालन की बात करेंगे कि कैसे बत्तख पालन करके हम लोग एक बड़ा मुनाफा कमा सकते हैं अपने गांव अपने खेत में रहते हुए आज हम लोग जिस बत्तख की बात करेंगे उसका नाम हैं कैंबल बत्तख।

जो कि आपको इस तस्वीर में दिख रही है दोस्तों हम लोग देव से बात करेंगे हम हर एक तस्वीर आपको दिखाएंगे कि कैसे हम लोगों ने अपना फार्म शुरू किया था बत्तख पालन का काम कैसे शुरू किया था और सबसे पहला कार्य किया था।

सबसे आखरी काम क्या किया हम लोगों ने बत्तख पालन में दोस्तों सबसे पहला काम जो हम लोगों ने शुरू कराने एक जेसीबी मशीन है जो कि गड्ढा खोदने का काम कर रही है हम लोगों ने बड़ा गड्ढा खोदा था।

क्योंकि हमें मछली पालन करना था। जब हम लोगों ने गड्ढा खोद लिया उसके बाद हम लोगों ने उस गड्ढे में गोबर की खाद डाली गोबर की खाद क्योंकि हमें इस तालाब में मछली पालन भी करना था।

बत्तख पालन करना था। मछली पालन की बात हम लोग करेंगे हमारी अगली आर्टिकल के बारे में इस आर्टिकल में हम लोग सिर्फ और सिर्फ बत्तख पालन की बात करेंगे खुद गया तालाब में पानी भर गया।

हमारा तालाब काफी बड़ा है। आपको कोई जरूरत नहीं है इतने बड़े तालाब की आप एक छोटी सी जगह में एक छोटे से तलाब में भी बत्तख पालन का काम बड़े ही आसानी से अपने खेत में शुरू कर सकते हैं।

उसमें बहुत बड़े तालाब की या गहरे तालाब की जरूरत नहीं है।एक घर है घर कहे या दरबार के लीजिए जो तालाब के बगल में हम लोगों ने बनाए हैं इसमें इस्तेमाल किया किया है कमाल किया है इस्तेमाल किया बहुत महंगा नहीं है साधारण है।

कम खर्च में हो जाएगा इसमें हम लोगों ने बत्तख रखने का इंतजाम किया है आपके पास अगर लकड़ी है जाली है तो उसे भी आप ध्यान कितना देना है इसमें कोई उसे बाहर का जानवर ना आ जाए।

अब आप सोचेंगे क्या होना चाहिए तो अंदर में कुछ नहीं करना है इस तस्वीर में देखिए हम लोगों ने मिट्टी मिट्टी ऊंचाई पर डाली और उसको दूरमुझ से पीट दिया और फिर उस में धान की भूसी गांव में रहने वाले लोग जानते हैं।

यह सब हो जाने के बाद ऑर्डर दे दिया बत्तख के बच्चे का 1 महीने के बच्चे का और बत्तख के बच्चे हमारे फार्म पर डिलीवर हुए इस तरह से इसमें करके। दोस्तों एक बात का ध्यान दीजिएगा जब आप बत्तख के बच्चे का ऑर्डर कर रहे हो व्यापारी को उससे बोल दीजिए कि आपको डिलीवरी हमारे फार्म पर देनी है।

डब्बे में क्या रेट में जितने बच्चे जिंदा मिलेंगे हमारे फार्म पर सिर्फ उसने का पैसा देंगे जितने मरे हुए बच्चे होंगे उनका पैसा नहीं देंगे आपको यह आपकी जिम्मेदारी है।

मुर्गी के बच्चे इसी तरह से कराते हैं। जब तक हमारे पास आए तो हम लोगों ने एक-एक बच्चों को हाथ में उठाया उसको देखा कि ना और गिन करके उनके घर में इस तरह से छोड़ दिया यह बच्चे काफी दूर से आते हैं।

ट्रांसपोर्टेशन से थक जाते हैं तो आने के बाद सबसे पहले इन को पानी पिलाया जाता है। और वह भी मीठा पानी वाला पानी ताकि तक के बच्चों के अंदर या मुर्गी के मुर्गी के बच्चा के अंदर भी ताकत आ सके दोस्तों पानी पिलाने के बाद हम लोगों ने इनका फीट खरीदा स्टार्टर जो बाजार में आसानी से मिल जाता है।

15 दिन तक इन बच्चों को इनके नए घर में से बाहर नहीं निकाला 15 दिन तक यह बच्चे अपने नए घर में रहे खाते रहे घूमते रहे और इनको हम लोग के घर में इसलिए छोड़ा था।

15 दिन तक बाहर नहीं निकाला था कि यह रूबरू हो जाए अपने घर से 15 दिन के बाद यह पहली बार अपने घर में से बाहर निकले और तालाब में गए आप इस वीडियो में देख रहे यह पहले दिन की तस्वीर है।

जब यह बच्चे निकल कर के पहली बार पानी में अपने जीवन में उतर रहे थे इस वीडियो में आप देख सकते हैं। और इस समय तक के बच्चे की उम्र लगभग 1 महीने और 15 दिन होगी यानी 45 दिन थी बत्तख अंडा देने लायक लगभग 4 से 5 महीने में तैयार हो जाती है।

वह आपके खाने पर निर्भर करता है यह जो तस्वीर आप देखते हैं। यह बच्चे हैं छोटे वाले जो अब बड़े हो गए हैं। पर अभी एडल्ट नहीं है। अभी भी यह बच्चे हैं। और इनके पंख जम रहे हैं हल्के भूरे भूरे रंग की हो गए।

इसलिए इनको खाकी कैंबेल बत्तख कहते हैं दोस्तों आपने आमतौर पर बच्चों को को देखा होगा गली में घूमते हुए गांव में जो रंगीन बत्तख होती है उनको इंडियन रनर कहते हैं यह खाकी कैंबेल बत्तख है इंडियन अब तक बहुत कम अंडा देती हैं।

खाकी कैंबेल काफी अधिक अंडा देती है कि 365 दिन में लगभग 200 से लेकर 300 से देती हैं। हम लोगों ने अपने तालाब में कुछ हंस भी पाल कर रखे हैं। यह सिर्फ हंस नहीं हैं।

बल्कि हमारे चौकीदार भी हैं जो किसी तरह की सैलरी लेते हैं हंस पक्षी है जिसकी आंख बहुत तेज होती हैं। इसलिए हमारे तालाब में है क्योंकि यह दूर से ही किसी भी जानवर को देख लेता हैं। अगर बिल्ली आती है साप आता है या कोई अनजान आदमी भी अगर आ जाता है तो उसको देखकर यह चिल्लाने लगता हैं।

इसकी आवाज भी काफी तेज होती हैं। और उसके चिल्लाने पर हम सभी लोग हो जाते हैं जरूर कोई गड़बड़ी हैं। तलाब की आस पास कोई जानवर आ गया हैं। इसीलिए हंस चिल्ला रहा हैं।

इसीलिए यह हमारे तालाब के चौकीदार हैं और फ्री में अपनी सेवा दे रहे हैं। दोस्तों अब बच्चे जो थे बड़े हो गए हो गए हैं यह लगभग साढे 4 से 5 महीने तक है इनको ध्यान से देखिए उसकी गर्दन काली हैं। कुछ की हल्की भूरी जो काली गर्दन वाले हैं।

और हल्की भूरीवाले अब इस उम्र में आने के बाद आंखों को देख करके पता कर सकते हैं कि आपके पास कितने नर हैं और मादा कितने हैं लेते टाइम आप पता नहीं कर सकते कि आप को कितने नर मिलने कितने मादा अब इतने बड़े होने पर आपको लगता है कि आपके पास नरमादा से बहुत अधिक हैं तो उनको तत्काल बेच दीजिए।

क्योंकि नर अधिकतर आपके पास रहेंगे तो वह सिर्फ आपका खाना खाने का काम करेंगे और कुछ नहीं पहले हम लोगों ने धान की भूसी बिछाई थी। बच्चों के लिए अब यह बड़े हो गए तो हम लोगों ने यहां पर पुआल बिछा दी है।

ताकि उसमें यह और बच्चों ने अब अंडा देना जैसा कि आप देख रहे हैं घोंसला बना कर देना शुरू कर दिया और यह में घुसा के घर में और देखी मुझे क्या मिला और दोस्तों यह देखिए यह तो हमारी दिए थे। और हमें मिले बहुत खुशी होती है इतनी मेहनत के बाद जब कुछ मिलता है तो और देखिए इस खुशी के कारण ही हम लोगों ने इनको इस छोटी सी टोकरी में कितने प्यार से सजाया था।

सच में बहुत खुशी थी इस दिन जिस दिन हम लोगों को यह सारे अंडे पहले दिन मिले थे। दोस्तों अब आप सोच रहे होंगे कि आप को बड़ा कर दिया बत्तख अंडा देना शुरू कर दिया अब आख़िर में हम बत्तख के अंडे का करेंगे क्या? कौन खरीदेगा? किसको बेचगे?

तो दोस्तों घबराइए मत अंडा खरीदने वाले बहुत से लोग हैं एक बार लोगों को सिर्फ बताइए तो पता तो लगने दीजिए कि आपके यहां बत्तख है और वह अंडा देने लगी लोग आएंगे खुद भर भर कर आपके यहां से ऐसे करके जाएंगे जैसे हमारे यहां से ले जाते हैं।

हम लोगों ने गर्मी के ₹8 से ₹11 में और सर्दी के समय ₹20 में आसानी से बेच है दोस्तों आप बाहर का खरीद का खाना खिला सकते हैं हम लोग बाहर का भी खरीदते हैं और अगल-बगल के ढाबे से रेस्टोरेंट्स इन का बचा हुआ झूठा खाना उठाते हैं और उसको लाकर को खिलाते हैं।

घर में जितना झूठा खाना निकलता है उसको को खिलाते हैं उसको खिलाने से बत्तख का अंडा अच्छा होता है और खरीदा हुआ खाना कम लगता हैं। इससे बचत और अच्छी हो जाती है दोस्तों मुझे पता है आप के दिमाग में बहुत से प्रश्न होंगे डक फार्मिंग को ले करके और आपको सारी जानकारी हमने दे दिया इस तरह आप फार्मिंग करके लाखों रुपए महीना कमा सकते हैं।

इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और उनको भी लाखों कमाने का मौका दें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version